Thursday, 2 August 2012

361. रक्षा बंधन (राखी पर10 ताँका)

रक्षा बंधन (राखी पर 10 ताँका)

*******

1.
पावन पर्व 
दुलारा भैया आया 
रक्षा बंधन 
बहन ने दी दुआ 
बाँध रेशमी राखी !

2.
राखी त्योहार  
सुरक्षा का वचन 
भाई ने दिया 
बहना चहकती 
उपहार माँगती !

3.
राखी का पर्व 
सावन का महीना 
पीहर आई 
नन्हे भाई की दीदी 
बाँधा स्नेह का धागा !

4.
आँखों में पानी 
बहन है पराई 
सूनी कलाई
कौन सजाये अब 
भाई के माथे रोली !

5.
पूरनमासी 
सावन का महीना 
राखी त्योहार 
रक्षा-सूत्र ने बाँधा 
भाई-बहन नेह ! 

6.
घर परिवार
स्वागत में तल्लीन 
मंगल पर्व
राखी-रोली-मिठाई 
बहनों ने सजाई !  

7.
शोभित राखी 
भाई की कलाई पे
बहन बाँधी  
नेह जो बरसाती 
नेग भी है माँगती !

8.
प्यारा बंधन 
अनोखा है स्पंदन 
भाई-बहन
खुशियाँ हैं अपार
आया राखी त्योहार ! 

9.
चाँद चिंहुका 
सावन का महीना 
पूरा जो खिला
भैया दीदी के साथ 
राखी मनाने आया !

10.
बहन भाई 
बड़े ही आनंदित 
नेग जो पाया
बहन से भाई ने     
राखी जो बँधवाई !

- जेन्नी शबनम (अगस्त 2, 2012)

________________________________ 

7 comments:

Unknown said...

राखी के पर्व की शुभकामनाएं!!

***Punam*** said...

भाई -बहन का प्यार यूँ ही बना रहे ...

Unknown said...

वाह , कोमल भाव बधाई

Maheshwari kaneri said...

वाह: सभी क्षणिकाओ में कोमल भावों की सुन्दर अभिव्यक्ति है ....

सदा said...

भावमय करते शब्‍द ...
आपको इस स्‍नेहिल पर्व की अनंत शुभकामनाएं

S.M.HABIB (Sanjay Mishra 'Habib') said...

बहुत खुबसूरत ताका रचनाएं....
रक्षाबंधन की सादर बधाइयां...

धीरेन्द्र सिंह भदौरिया said...

भाई बहन का प्यार लिए खूबशूरत प्रस्तुति,,बधाई

RECENT POST काव्यान्जलि ...: रक्षा का बंधन,,,,