रविवार, 1 मार्च 2015

487. वासन्ती प्यार (वसंत ऋतु पर 5 हाइकु)

वासन्ती प्यार  
(वसंत ऋतु पर 5 हाइकु)   

******* 

1.  
वासन्ती प्यार    
नस-नस में घुली,   
हँसी, बहार ! 

2.
वासन्ती धुन  
आसमान में गूँजे  
मनवा झूमे ! 

3.
प्रणय पुष्प
चहुँ ओर है खिला  
रीझती फ़िज़ा ! 

4.
मन में ज्वाला 
मरहम लगाती    
वसन्ती हवा ! 

5.
वसन्ती रंग 
छितराई सुगंध  
फूलों के संग ! 

- जेन्नी शबनम (14. 2. 2015)

___________________________

4 टिप्‍पणियां:

Anupama Tripathi ने कहा…

मन प्रसन्न कराते भाव !!
बहुत सुंदर हाइकु !!

Anupama Tripathi ने कहा…

मन प्रसन्न कराते भाव !!
बहुत सुंदर हाइकु !!

मनोज कुमार ने कहा…

अद्भुत!

Digamber Naswa ने कहा…

बसंत के रंगों में लादे लाजवाब हाइकू ...