Thursday, April 12, 2012

339. बेसब्र इंतज़ार (क्षणिका)

बेसब्र इंतज़ार (क्षणिका)

*******

कितने सपने कितने इम्तहान
अगले जन्म का बेसब्र इंतज़ार,
कमबख्त ये जन्म तो ख़त्म हो !

- जेन्नी शबनम (अप्रैल 12, 2012)

__________________________