Tuesday, May 20, 2014

457. दुआ के बोल (दुआ पर 5 हाइकु)

दुआ के बोल
(दुआ पर 5 हाइकु)

*******

1. 
फूले व फले
बगिया जीवन की  
जन-जन की !

2.
दुआ के बोल 
ब्रह्माण्ड में गूँजते 
तभी लगते ! 
  
3.
प्रेम जो फले 
अपनों के आशीष  
फूल-से झरें !

4.
पाँव पखारे 
सुख-शान्ति का जल 
यही कामना !

5.
फूल के शूल 
कहीं चुभ न जाए 
जी घबराए !

- जेन्नी शबनम (13. 5. 2014)

__________________________