सोमवार, 13 अगस्त 2012

366. त्योहार का मौसम

त्योहार का मौसम 

******* 

ऐ सुनो   
तुम कहते हो   
हमारी बातें, त्योहार का मौसम 
कब आएगा, बताओ ये मौसम?   
हज़ारों बातें, मीठी यादें   
अब भी बंद है   
लकड़ी वाली पिटारी में   
जिसकी कुंजी खो गई थी   
पिछले बरस के त्योहार में   
ढ़ेरों किस्से, मेरे हिस्से   
तह पड़े मेरी पिटारी में   
उमर ठिठकी, बरस बीता   
फिर भी न आता, ये त्योहार क्यों?   
ऐ कहो   
कब तुड़वाने लाऊँ पिटारी   
कब तक रखूँ सँभाल के?   
दिवाली बीती, होली बीती   
बीता सावन, भादो भी   
अब भी नहीं आता   
बोलो ये त्योहार क्यों?   
ऐ सुनो   
तुम कहते हो 
हमारी बातें, त्योहार का मौसम 
बताओ, कब आएगा   
ये त्योहार का मौसम!   

- जेन्नी शबनम (13 अगस्त, 2012) 
_________________________