Monday, October 10, 2011

तब हुआ अबेर...

तब हुआ अबेर...

*******

जब मिला बेर
तब हुआ अबेर,
मचा कोलाहल
चित्र दिया उकेर,
छटपटाया मन
शब्द दिया बिखेर,
बिछा सन्नाटा
अब जगा अंधेर,
'शब' सो गई
तब हुआ सबेर!
______________
बेर - बारी/ समय
अबेर - देर
______________

- जेन्नी शबनम (अक्टूबर 1, 2011)

________________________________________