Sunday, May 26, 2013

406. गुलमोहर (16 हाइकु)

गुलमोहर (16 हाइकु)

******* 

1.
उनका आना 
जैसे मन में खिला  
गुलमोहर !

2.
खिलता रहा  
गुलमोहर फूल  
पतझर में ! 

3.
तुम्हारी छवि 
जैसे दोपहरी में  
गुलमोहर !

4.
झरी पत्तियाँ
गुलमोहर हँसा 
आई बहार !

5.
झूमती हवा 
गुलमोहर झूमा 
रुत सुहानी !

6.
उसकी हँसी -
झरे गुलमोहर 
सुर्ख गुलाबी !

7.
गुलमोहर !
तुमसे ही है सीखा 
खिले रहना !

8.
खिलता रहा    
गुलमोहर गाछ
शेष मुर्झाए !

9.
सजा के पथ  
रहता है बेफिक्र 
गुलमोहर !

10.
हवा ने कहा -
गुलमोहर सुन
साथ में उड़ !

11.
उड़ता आया 
गुलमोहर फूल 
मेरे अँगना ! 

12.
पसरा रंग 
गुलमोहर गंध    
बैसाख खुश !

13.
आम्र-मंजरी 
फूल गुलमोहर 
दोनों चहके !

14.
सुर्ख फूलों-सा 
तेरा रंग खिला, ज्यों
गुलमोहर !

15.
गुलमोहर 
कतारबद्ध खड़े 
प्रहरी बड़े !

16.
पलाश फूल 
गुलमोहर फूल 
दोनों आओ न !

- जेन्नी शबनम (2. 5. 2013)

___________________________