शनिवार, 22 अक्तूबर 2011

294. बाध्यता नहीं (क्षणिका)

बाध्यता नहीं

*******

ये मेरी चाह थी कि
तुम्हें चाहूँ
और तुम मुझे,
पर ये सिर्फ
मेरी चाह थी
तुम्हारी बाध्यता नहीं !

_ जेन्नी शबनम (अक्टूबर 9, 2011)

____________________________