Saturday, August 17, 2013

416. माथे पे बिंदी (11 हाइकु)

माथे पे बिंदी (11 हाइकु)

*******

1.
माथे की बिंदी 
आसमान में चाँद 
सलोना रूप !

2.
लाल बिंदिया 
ज्यों उगता सूरज
चेहरा खिला !

3.
ऋषि कहते 
कपाल पर बिंदी 
सौभाग्य चिह्न !

4.
झिलमिलाती 
माथे पर बिंदी 
भोर की लाली !

5.
मुख चमके 
दप-दप दमके 
लाल बिंदी से !

6.
सिन्दूरी बिंदी 
सूरज-सा चमके
गोरी चहके !

7.
माथे पे बिंदी 
सुहाग की निशानी 
हमारी रीत !

8.
अखण्ड भाग्य 
सौभाग्य का प्रतीक 
छोटी सी बिंदी !

9.
माथे पे सोहे 
आसमां पे चन्दा ज्यों 
मुस्काती बिंदी !

10.
त्रिनेत्र जहाँ 
शिव के माथे पर 
वहीं पे बिंदी !

11.
महत्वपूर्ण 
ज्यों है भाषा में बिंदी
त्यों स्त्री की बिंदी !

- जेन्नी शबनम (अक्टूबर 10, 2012)

_______________________________