Wednesday 29 June 2016

517. अनुभव

अनुभव  

*******  

दोराहे  
निश्चित ही द्वन्द पैदा करते हैं  
एक राह छलावा का  
दूसरा जीवन का  
कौन सही  
इसका पता दोनों राहों पर चलकर ही होता है  
फिर भी  
कई बार  
अनुभव धोखा दे जाता है  
और कोई पूर्वाभास भी नहीं होता !  

- जेन्नी शबनम (29. 6. 2016)  

______________________________