Thursday, December 28, 2017

564. हाइकु काव्य (हाइकु पर 10 हाइकु)

हाइकु काव्य  
(हाइकु पर 10 हाइकु)
 
*******  

1.  
मन के भाव  
छटा जो बिखेरते  
हाइकु होते।  

2.  
चंद अक्षर  
सम्पूर्ण गाथा गहे  
हाइकु प्यारे।  

3.  
वृहत् सौन्दर्य  
मन में घुमड़ता,  
हाइकु जन्मा।  

4.  
हाइकु ज्ञान -  
लघुता में जीवन,  
सम्पूर्ण बने।  

5.  
भारत आया  
जापान में था जन्मा  
हाइकु काव्य।  

6.  
हाइकु आया  
उछलता छौने-सा  
मन में बसा।  

7.  
दिखे रूमानी  
करे न मनमानी  
नन्हा हाइकु।  

8.  
चंद लफ़्ज़ों में  
अभिव्यक्ति संपूर्ण  
हाइकु पूर्ण।  

9.  
मेरे हाइकु  
मुझसे बतियाते  
कथा सुनाते।  

10.  
हाइकु आया  
दुनिया समझाने  
हमको भाया।  

- जेन्नी शबनम (10. 12. 2017)  

_____________________________

9 comments:

yashoda Agrawal said...

वाह....
बेहद मनभावन
सादर नमन
सादर

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शुक्रवार (29-12-2017) को "गालिब के नाम" (चर्चा अंक-2832) पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट अक्सर नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
क्रिसमस हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

Dhruv Singh said...

ब्लॉग जगत के श्रेष्ठ रचनाओं का संगम "लोकतंत्र" संवाद ब्लॉग पर प्रतिदिन लिंक की जा रही है। आप सभी पाठकों व रचनाकारों से अनुरोध है कि आप अपनी स्वतंत्र प्रतिक्रिया एवं विचारों से हमारे रचनाकारों को अवगत करायें ! आप सभी गणमान्य पाठकों व रचनाकारों के स्वतंत्र विचारों का ''लोकतंत्र'' संवाद ब्लॉग स्वागत करता है। धन्यवाद "एकलव्य" https://loktantrasanvad.blogspot.in/

Digamber Naswa said...

वाह ... हाइकू पे लिखे लाजवाब और जबरदस्त हाइकू ...
पूरी कहानी हाइकू की लिख दी ...

Onkar said...

बहुत सुन्दर

Dhruv Singh said...

आदरणीय / आदरणीया आपके द्वारा 'सृजित' रचना ''लोकतंत्र'' संवाद ब्लॉग पर 'बुधवार ' ०३ जनवरी २०१८ को लिंक की गई है। आप सादर आमंत्रित हैं। धन्यवाद "एकलव्य" https://loktantrasanvad.blogspot.in/

Ritu Asooja Rishikesh said...

बहुत ख़ूब हाइकु

Jyoti Khare said...

वाह
बहुत सुंदर हाइकु
शुभकामनाये
सादर

Sudha Devrani said...

सुन्दर हायकू...